1035 नग नशीले इंजैक्शन के साथ मां बेटे को पुलिस ने धर दबोचा - Jai Bharat Express

Breaking

1035 नग नशीले इंजैक्शन के साथ मां बेटे को पुलिस ने धर दबोचा


नशीले कारोबार मे लिप्त मां एवं बेटा गिरफ्तार, 1035 नग नशीले इंजैक्शन जप्त।

 




क्राईम ब्रांच एवं थाना कोतवाली की टीम को 2 आरोपियों को 1035 नग नशीले इंजैक्शन के साथ गिरफ्तार करने मे सफलता प्राप्त हुई है। 👇
VIDEO 



जबलपुर
|लंबे समय से नशीले इंजैक्शन का कारोबार करने वाले मां बेटे को पुलिस ने धर दबोचा इस संबंध में थाना प्रभारी कोतवाली अनिल गुप्ता ने बताया कि दिनाॅक 9-8-21 को रात्रि में क्राईम ब्रांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि हरे रंग की क्विड कार क्रमांक एमपी 49 सी 4435 में आशीष उर्फ गोलू ठाकुर निवासी राजीवनगर चेरीताल का अपनी कार के अंदर सीट पर नशीले इंजेक्शन  के भर हुये डिब्बे लेकर गोहलपुर अधारताल की तरफ बेचने के लिये जा रहा है, और लम्बे समय से अवैध नशीले इंजेक्शन बेचने का कारोबार कर रहा है। जिसकी कार दमोहनाका से गोहलपुर- अधारताल तरफ जाने वाली है जिसकी उम्र 30-31 वर्ष लम्बे बाल है जो फुल वाह की ब्लेक टीशर्ट एवं गहरे रंग का लोवर पहने हैं । सूचना पर होरीलाल टायर वाले की दुकान के सामने दमोहनाका चौराहा के पास नाकाबंदी की गयी, कुछ ही देर में आ रही कार क्रमांक एमपी 49 सी 4435 को रोककर चालक का नाम पता पूछा जिसने अपना नाम आशीष उर्फ गोलू राजपूत उम्र 31 वर्ष निवासी राजीवनगर चेरीताल का रहने वाला बताया  कार की तलाशी लेने पर कार के अंदर ड्रायवर के बगल वाली सीट पर एक सफेद रंग की प्लास्टिक की बोरी के अंदर 6 गत्ते के छोटे डिब्बे एवं एम्पुल रखे हुये थे, जिन्हें खोलकर देखने पर 300 नग  Pakavil नशीले इंजेक्शन  एवं 250 एम्पुल लीजेसिक कुल कीमती 5 हजार रूपये के होना पाये गये। उक्त इंजेक्शनों को रखने एवं परिवहन के संबंध में पूछताछ करने पर स्वयं के द्वारा कार में रखकर गोहलपुर अधारताल तरफ बेचने ले जाना बताया आरोपी से से 300  Pakavil के नशीले इंजेक्शन एवं 250 एम्पुल जप्त करते हुये धारा 328 भादवि एवं 18(सी), 27(बी) औषधि प्रशाधन अधिनियम के तहत कार्यवाही की गयी।

 

वहीं दिंनाक 9-8-21 की रात में क्राईम ब्रांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना मिली कि माया ठाकुर निवासी राजीव नगर चेरीताल की अपने घर के बाहर एक थैला लिये खड़ी है और थैले में नशीले इंजेक्शन  बेच रही है और लम्बे समय से नशीले इंजेक्शनों का कारोबार कर रही है। सूचना पर क्राईम ब्रांच एवं थाना कोतवाली की संयुक्त टीम द्वारा मुखबिर के बताये स्थान पर दबिस दी गयी जहां मुखबिर के बताये हुलिये की महिला को घेराबंदी कर पकड़ा गया, जो अपने हाथ में एक प्लास्टिक का थैला लिये हुई थी, जिससे नाम पता पूछने पर अपना नाम माया ठाकुर उम्र 60 वर्ष निवासी राजीवनगर चेरीताल की रहने वाली बतायी, जिसकी तलाशी लेने पर थैले के अंदर गत्ते के 6 छोटे डिब्बे एवं एम्पुल रखे हुये थे गत्तों के डिब्बो को खोलकर देखा गया जिसमे 300 नग  Pakavil  नशीले इंजेक्शन एवं 185 नग एम्पुल लीजेसिक कीमती 4500 रूपये के होना पाये गये  इंजेक्शन रखने के संबंध में पूछताछ करने पर कोई दस्तावेज नहीं होना बतायी, एवं स्वंय के द्वारा उक्त नशीले इंजेक्शन बेचना स्वीकार की आरोपी माया ठाकुर से 300  Pakavil के नशीले इंजेक्शन एवं 185 एम्पुल जप्त करते हुये धारा 328 भादवि एवं 18(सी), 27(बी) औषधि प्रशाधन अधिनियम के तहत कार्यवाही की गयी।


उल्लेखनीय भूमिका - आरोपियों को नशीले इंजैक्शन के साथ रंगे हाथ पकड़ने में थाना कोतवाली के उप निरीक्षक संध्या तिवारी, टेकचंद शर्मा, आरक्षक संतोष , इंद्र कुमार  एवं क्राईम ब्रांच के उप निरीक्षक आर.पी. बर्मन, प्रधान आरक्षक राधेश्याम दुबे, आरक्षक आनंद तिवारी, मुकुल गौतम, रोहित द्विवेदी  ओमनारायण सिंह , अमीरचंद की सराहनीय भूमिका  रही।